मेरे सपनो में आओ !!!

ये हमसे दूर जाने वाले कभी तो मिलने आओ
 दिन में न सही रात  को मेरे सपनो में आओ ।
आज मौसम खफ़ा  है ,मन भी खाली -खाली  सा है 
ख़ुशी  से न सही , उदासी  से भरने तो आओ ।
देखो वर्षा भी आ गयी हवा भी मेरे साथ है 
एक बार बारिश में मेरे साथ भीगने तो आओ ।
उजड़ गए हैं  हमारे लगाये प्यार के बगीचे 
कम से कम इन्हें अपने हाथों से सजाने तो आओ ।